• Breaking News

    .

    .

    Monday, 6 November 2017

    8 साल की बेटी का सिर काटकर तांत्रिक को दे आया

    नई दिल्ली। अंधविश्वास में जकड़े लोग तांत्रिकों के फेर में आकर अपनी मनोकामनाओं की पूर्ति के लिए क्या कुछ नहीं कर जाते। यह एक जघन्यतम हत्याकांड का मामला है। एक व्यक्ति ने अपनी दूसरी पत्नी के साथ मधुर दाम्पत्य जीवन बितान की मनोकामना पूर्ति के लिए अपनी पहली पत्नी से पैदा हुई 8 साल की मासूम बेटी का सिर आरी से काटकर तांत्रिक को दे दिया। बचा हुआ धड़ एक खेत में फैंक दिया जिसके कारण पुलिस को इस हत्याकांड का पता चल सका। तांत्रिक इसे नरबलि भी कहते हैं। 
    स्थानीय पुलिस ने बताया कि उड़ीसा के रामचरन पहारिया को अपनी 8 साल की बेटी जमुना के मौत के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। पूछताछ में पता चला कि उसने इस कार्य को एक तांत्रिक के कहने पर किया है। पुलिस उस तांत्रिक की भी खोज कर रही है। आरोपी रामचरन पहारिया ने दो शादियां की थी। दूसरी शादी को ज्यादा समय तक बिना किसी बाधा के चलाने के लिए रामचरन एक तांत्रिक के प्रभाव में आ गया। 

    तांत्रिक के कहने पर उसने अपनी पहले विवाह से उत्पन्न पुत्री जमुना की हत्या आरी से गला काटकर कर दी। दूसरे दिन लड़की का बिना सिर का शरीर पास के खेत में पड़ा मिला। बाद में पुलिस द्वारा छानबीन करने के बाद नुआपाडा से आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस ने बताया कि आरोपी काले जादू में विश्वास रखने वाला है। जिसके चलते उसने तांत्रिक के प्रभाव में आकर पारिवारिक कलह के कारण अपनी ही बेटी की बलि देने की ठानी। पुलिस ने बताया कि लगभग 40 लोगों की टीम उस तांत्रिक की खोज के लिए लगाई गयी है।

    No comments:

    Post a Comment

    Fashion

    Beauty

    Travel