• Breaking News

    .

    .

    Wednesday, 8 November 2017

    50 साल बेड़ियों में बांधकर रखा गया ये हाथी, दर्दभरी कहानी रुला देगी आपको

    ये है जुल्म की एक ऐसी दास्तान जिसे सुनकर आपकी आंखें भर आएंगी। एक बेजुबान जानवर पर इस कदर जुल्म ढहाया गया कि जिसकी कल्पना भी नहीं की जा सकती। इस बेजुबान को उम्र कैद से भी बदतर सजा दी गई।ये मामला उत्तर प्रदेश में सामने आया है। यहां एक हाथी को 50 साल तक बेड़ियों में जकड़कर रखा गया। उसके चारों पैरों में मोटी-मोटी जंजीरे बंधी हुई मिली। तस्वीरों में बेड़ियों पर लगा जंग और हाथी की आंखों से बहती अश्रु धारा बिन कहे ही पूरी कहानी बंया कर देगी।ये मामला उत्तर प्रदेश में सामने आया है। यहां एक हाथी को 50 साल तक बेड़ियों में जकड़कर रखा गया। उसके चारों पैरों में मोटी-मोटी जंजीरे बंधी हुई मिली। तस्वीरों में बेड़ियों पर लगा जंग और हाथी की आंखों से बहती अश्रु धारा बिन कहे ही पूरी कहानी बंया कर देगी। महावत ने इस हाथी को 50 साल से जंजीर में बांधकर रखा था। सिर्फ इतना ही नहीं, उसपर काफी जुल्म किए जाते थे। इस घटना की जानकारी UK में जानवरों के लिए काम करने वाले एक आर्गेनाईजेशन को मिल गई। उन्होंने भारत आकर इस मामले में दखल दिया और हाथी को कैद मुक्त कराया।  

     

     भूख के मारे प्लास्टिक और पेपर्स खाने लगा था

    इसके बाद में उसे मथुरा के एनिमल केयर सेंटर में शिफ्ट करवा दिया गया, आपको जानकर हैरानी होगी कि हाथी को भूखे पेट रखा जाता था। 51 साल के इस हाथी का नाम राजू है। बचाए जाने से पहले राजू अलग-अलग 27 लोगों का गुलाम रह चुका था। उसे बेड़ियों में जकड़ कर रखा जाता था। रेस्क्यू से पहले टीम ने दो दिन तक राजू पर नजर रखी। राजू को ना तो समय से खाना दिया जाता था ना ही आराम करने दिया जाता था। उससे लगातार काम करवाया जाता था। भूखा राजू प्लास्टिक और पेपर्स खाने लगा था। आधी रात को राजू को आजाद करवाया गया। उसके पैरों में पड़ी बेडिय़ां इतनी टाइट थी कि उसकी स्किन कटने लगी थी। उसे वहां से मथुरा शिफ्ट किया गया, जहां आज राजू स्वस्थ और खुश है।

    No comments:

    Post a Comment

    Fashion

    Beauty

    Travel